Vedio: NDTV24-21 7 2017 लखीमपुर में बच्चो की बलि देने की-गाज़ीपुर में कब्र से गायब किडनी

Vedio: NDTV24-21 7 2017 लखीमपुर में बच्चो की बलि देने की-गाज़ीपुर में कब्र से गायब किडनी

विडिओ : बाराबंकी-जमुना प्रसाद त्रिपाठी का निधन,यहाँ होगा अंतिम संस्कार

बाराबंकी | आज शहर के कटरा मोहल्ले के रहने वाले वरिष्ठ नागरिक जमुना प्रसाद त्रिपाठी का निधन हो गया | वो पिछले डेढ़ माह से बीमार चल रहे थे | उनका निधन बुधवार दोपहर करीब साढ़े तीन बजे लखनऊ के एक अस्पताल में हुआ | इसकी निधन की जानकारी जिसे भी हुई वो अचंभित रह गया |

फिलहाल करीब 90 वर्ष की उम्र यानी उम्र आखिरी पड़ाव पर उन्होंने अंतिम साँस ली | जमुना प्रसाद त्रिपाठी ने अपने जीवन में संघर्षो के इतिहास को संजोते हुए हर किसी का भला किया | माना जाता है कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री से लेकर कई बड़े नेताओं के बीच व्यवहारिक मेल मिलाप था और उनके परिवार में भी आज उनकी नई पीढ़ी भी कुछ इसी तर्ज पर कायम है | जमुना प्रसाद का अंतिम संस्कार नागेश्वर नाथ के पास स्वर्ग मैदान में किया जायेगा |

Vedio : देश के 14वें राष्ट्रपति चुनने को PM मोदी से लेकर आडवाणी, राहुल और केजरीवाल तक सबने किया वोट-NDTV24 17JULY,2017-जम्मू-दिल्ली-गाज़ीपुर

आज देश के सभी सांसद व विधायक भारत के 14वें राष्ट्रपति को चुनने के लिए वोट डाल रहे हैं। देशभर की संसद और देशभर की विधानसभाओं में आज वोटिंग हो रही है। इसमें सबसे पहला वोट प्रधानमंत्री मोदी ने दिया।

प्रेसिडेंट इलेक्शन के लिए सोमवार को 99% वोटिंग हुई। नरेंद्र मोदी वोट डालने के लिए सबसे पहले पार्लियामेंट पहुंचे। वोटिंग शुरू होने में 10 मिनट का वक्त था, इसलिए पीएम को इंतजार करना पड़ा। यह जानकारी लोकसभा सेक्रेटरी जनरल अनूप मिश्रा ने दी। अनूप ही इस इलेक्शन के रिटर्निंग ऑफिसर भी हैं। वोटों की गिनती 20 जुलाई को होगी। बता दें कि इस इलेक्शन में रामनाथ कोविंद एनडीए के जबकि मीरा कुमार अपोजिशन की कैंडिडेट हैं।

अरुणाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़, असम, गुजरात, बिहार, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, नागालैंड, उत्तराखंड और पुड्डुचेरी में 100% वोटिंग हुई।

मिश्रा के मुताबिक- लोकसभा और राज्यसभा की टोटल स्ट्रैंथ 776 है। 771 सांसदों ने वोटिंग की। कुल 99% वोटिंग हुई।

दोनों सदनों में दो-दो वैकेंसीज हैं। बीजेपी एमपी छेदी पासवान के पास वोटिंग का अधिकार नहीं था। 717 सांसदों को वोटिंग करना थी लेकिन 714 ने ही मतदान किया।
इन सांसदों ने नहीं की वोटिंग

जिन तीन सांसदों ने वोटिंग नहीं की, उनके नाम हैं। टीएमसी के तापस पाल, बीजेडी के रामचंद्र हंसदक और पीएमके के अंबुमणि रामदौस।

54 सांसदों ने अपने राज्यों की राजधानी में वोटिंग की इजाजत मांगी थी। इनमें गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी शामिल हैं। केशव प्रसाद मौर्य और उमा भारती ने भी स्टेट कैपिटल में ही वोटिंग की।

बीजेपी चीफ अमित शाह वैसे तो गुजरात से एमएलए हैं लेकिन उन्होंने वोट दिल्ली में दिया। टीएमसी के सांसदों ने कोलकाता में मतदान किया।
मोदी सबसे पहले पहुंचे वोटिंग के लिए

वोटिंग सुबह 10 बजे शुरू होनी थी लेकिन नरेंद्र मोदी करीब 10 मिनट पहले ही पार्लियामेंट पहुंच गए। उन्होंने सबसे पहले वोटिंग भी की। हालांकि, पीएम को इसके लिए कुछ देर इंतजार भी करना पड़ा। इस दौरान, पीएम ने वहां मौजूद लोगों से बातचीत भी की।

काउंटिंग 20 जुलाई को सुबह 11 बजे होगी और सबसे पहले पार्लियामेंट का बैलेट बॉक्स खोला जाएगा। इसके बाद राज्यों के बैलेट बॉक्स अल्फाबेटिकल ऑर्डर में खोले जाएंगे।
– सभी वोटों की काउंटिंग अलग-अलग टेबल पर होगी। काउंटिंग के कुल 8 राउंड होंगे। कुल 32 पोलिंग स्टेशंस बनाए गए थे, इनमें पार्लियामेंट हाउस भी शामिल है।
– कुल 4,896 वोटर्स थे। इनमें 4,120 MLA और 776 MPs शामिल थे। सिक्किम में एक विधायक के वोट की वैल्यू 7 जबकि यूपी में ये 208 थी।

Videio : चुनावी रंजिश में बीजेपी नेता समेत चार चार पर फायरिंग,5 लोग अरेस्ट,इलाके में तनाव

बाराबंकी. चुनावी रंजिश खून खराबे में बदल गयी यूपी की लगातार बिगड़ती कानून व्यवस्था को अपना चुनावी मुद्दा बनाकर सत्ता पर काबिज होने वाली योगी सरकार भी हर मोर्चे पर विफल होती दिख रही है।

हर दिन यूपी में गंभीर वारदातों की खबरें सुर्खियां बन रही हैं। कभी आम आदमी बदहाल कानून व्यवस्था का शिकार बन रहा है तो कभी नेता। ऐसी ही एक वारदात यूपी की राजधानी से सटे जिले बाराबंकी में घटी है।

जहां शनिवार शाम को एक बीजेपी नेता पर जानलेवा हमला हुआ। इस हमले में बीजेपी नेता के परिवार पर भी लाठी-डंडे और गोलियां चलाई गईं। इस जानलेवा हमले में दो लोगों को गोली लगी है। जबकि दो अन्य लोग घायल हुए हैं। वहीं मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती करवाया। साथ ही मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया है।

बाराबंकी में शनिवार को लोनीकटरा के पास भिलवल में बीजेपी के पूर्व मंडल अध्यक्ष प्रहलाद शरण जायसवाल और उनके परिवार पर जानलेवा हमला हो गया। जानकारी के मुताबिक ये हमला चुनावी रंजिश में किया गया है। प्रहलाद शरण जायसवाल के मुताबिक उनकी भिलवल बाजार में एक दुकान है। उस दुकान पर उनका बेटा पुष्कर जायसवाल बैठा था। जहां पर गांव का ही शिवपाल यादव ने उसे गालियां देने लगा। जिसके बाद दोनों में कहासुनी हुई। इतना सब कुछ होने के कुछ देर बाद शिवपाल यादव अपने पिता लालता प्रसाद, चाचा बलराम यादव और लगभग एक दर्जन लोगों के साथ वापस दुकान पर आ धमका। इन सभी लोगों ने पुष्कर और प्रहलाद को लाठी-डोंडो से जमकर पीटा और फायरिंग कर दी। इस हमले में बीजेपी नेता प्रहलाद, पुत्र पुष्कर, भाई और ग्राम प्रधान के पति अर्जुन निगम गंभीर रूप से घायल हो गए।

मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को सीएचसी त्रिवेदीगंज पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने पुष्कर जायसवाल की हालत गंभीर बताते हुए उसे लखनऊ के केजीएमयू रेफर कर दिया गया। आपको बता दें कि पुष्कर की कमर के निचले हिस्से में गोली लगी है। वहीं वारदात के बाद पूरे इलाके में तनाव के हालात बने हुए हैं। जिसे देखते हुए प्रशासन ने मौके पर पुलिस बल तैनात कर दिया है। इस पूरे मामले को पुलिस चुनावी रंजिश का नतीजा बता रही है।

वहीं इस वारदात की जानकारी मिलने पर बाराबंकी की सांसद प्रियंका सिंह रावत, हैदरगढ़ से विधायक बैजनाथ रावत और पूर्व विधायक सुंदर लाल दीक्षित सहित कई बीजेपी नेता मौके पर पहुंचे। इस पूरे मामले पर प्रभारी एसपी शशिकांत तिवारी ने कहा कि ये पूरा मामला पंचायत चुनाव के दौरान हुई रंजिश का है। जिसमें पूर्व प्रधान के लोगों ने मौजूदा प्रधान के परिवार को निशाना बनाया है।

विडिओ : एक ही घर से निकला 46 सांप-बाराबंकी-मुरादाबाद-गाजीपुर

गाजीपुर बिरनों सांप शब्द सुनकर ही जेहन में सुरसुरी दौड़ जाती है और किसी घर में कई दर्जन जहरीले सांपों का बसेरा हो तो अंदाजा लगाएं कि उस घर में रहने वालों की क्या हालत होगी।

मरदह थाने के बोगना गांव के लोग शनिवार को उस समय सिहर गए जब कांता राजभर के घर से एक नहीं। दो नहीं बल्कि एक-एक कर संपेरों ने 46 सांप पकड़े। मौके पर सैकड़ों की भीड़ जमी थी। कांता राजभर ने बताया कि चार दिन पूर्व एक सांप दिखा। उसे तलाशा गया लेकिन वह नहीं मिला।


दो दिन बाद कांता की पुत्रवधू अनीता के पैर पर एक सांप चढ़ गया। सौभाग्य रहा कि वह सांप उसे डंसा नहीं लेकिन परिवार के सदस्यों के कान खड़े हो गए। फिर तो कुल पांच साप दिखाई पड़े। तब परिवार ने मलेठी गांव से सपेरों को बुलाया। उसके बाद नाग सहित उतनी संख्या में सांप पकड़े गए। सपेरों का कहना था कि अभी एक नागिन उनकी पकड़ में नहीं आई है। वह सारे सांप अपना बसेरा घर के आंगन में लगे ईंट के चट्टे में बनाए थे। इस वाकये से कांता का परिवार ही नहीं बल्कि पूरे गांव के लोग दहशत में हैं।

वीडियो : बाराबंकी-फिर चर्चा में सपा सदर विधायक और मऊ में भाजपा मंत्री व सांसद आमने-सामने जानिए ऐसा क्या तो क्लिक करें


मऊ जिले के पीडब्लूडी में व्याप्त भष्ट्राचार के खिलाफ मिले शिकायत पर बीजेपी सांसद ने कार्यालय का निरीक्षण किया था। जिसमें पीडब्लूडी में भष्ट्राचार की शिकायत सही मिली थी, जिसके बाद सांसद ने विभाग के अधिशासी अभियन्ता के खिलाफ शासन सहित संबंधित विभागों को पत्र लिख कर निलंबन की मांग उठाई थी।

जिसके बाद अब इस मामलें में पर्य़ावरण मंत्री ने अधिशासी अभियन्ता का निलंबन रोकने को लेकर शासन को पत्र लिखा हैं। जिसका लेटर लगातार सोशल मिडीया पर वायरल हो रहा हैं। जिसके बाद अधिशासी अभियन्ता को लेकर भाजपा सांसद हरिनारायण राजभर और मंत्री दारा सिहं चौंहान आमने सामने हो गयी हैं।जहाँ एक तरफ सांसद जनपद को भष्ट्राचार मुक्त करने के लिये तमाम राजनीतिक और अधिकारीयों के बैठक में लङाई लङ रहे हैं, तो वहीँ बसपा का दामन छोङ कर भाजपा में आये पर्य़ावरण मंत्री भष्ट्राचारीयों को बचाने की लङाई लङ रहे हैं।

Video : बाराबंकी : मवेशियों को चारा डालने गयी थी विवाहिता पीछे देखा जानवरो कर डाला उसका गैंगरेप

बाराबंकी में एक महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया और उसे बेहोशी की हालत में छोड़कर भाग गए |

मामला रामसनेही घाट है जहाँ घात लगाए बैठे बहसी जानवरो की वेश में शराब पीकर गांव के दो लोगो रेप किया फिलहाल मामले की जाँच में जुटी हुई है | इसके आलावा हैदरगढ़ के ग्राम पंचायत लाही में एक महिला गांव के रामप्रवेश नामक व्यक्ति पर रेप का आरोप लगाया है | शिकायत के बाद एएसएपी ने जाँच के बाद कार्यवाही के आदेश दिए है|

विडिओ : विडिओ : हेडलाइंस-बाराबंकी में महिला से रेप-मंत्री का लेटर हुआ वायरल

मऊ जिले के पीडब्लूडी में व्याप्त भष्ट्राचार के खिलाफ मिले शिकायत पर बीजेपी सांसद ने कार्यालय का निरीक्षण किया था । जिसमें पीडब्लूडी में भष्ट्राचार की शिकायत सही मिली थी, जिसके बाद सांसद ने विभाग के अधिशासी अभियन्ता के खिलाफ शासन सहित संबंधित विभागों को पत्र लिख कर निलंबन की मांग उठाई थी ।

जिसके बाद अब इस मामलें में पर्य़ावरण मंत्री ने अधिशासी अभियन्ता का निलंबन रोकने को लेकर शासन को पत्र लिखा हैं। जिसका लेटर लगातार सोशल मिडीया पर वायरल हो रहा हैं। जिसके बाद अधिशासी अभियन्ता को लेकर भाजपा सांसद हरिनारायण राजभर और मंत्री दारा सिहं चौंहान आमने सामने हो गयी हैं।जहाँ एक तरफ सांसद जनपद को भष्ट्राचार मुक्त करने के लिये तमाम राजनीतिक और अधिकारीयों के बैठक में लङाई लङ रहे हैं,तो वहीँ बसपा का दामन छोङ कर भाजपा में आये पर्य़ावरण मंत्री भष्ट्राचारीयों को बचाने की लङाई लङ रहे हैं।

आप को बताते चले कि पिछले 15 अप्रैल को सांसद हरिनारायण राजभर को शिकायत प्राप्त हुई कि पीडब्लूडी की फाइलें मार्च बीत जाने के बाद भी क्लोज नही की गयी हैं और अधिशासी अभियन्ता द्वारा जमकर भष्ट्राचार किया जा रहा हैं। शिकायत के बाद खुद सांसद पीडब्लूडी कार्य़ालय में पहुच कर निरीक्षण किया। जिसमें सारी शिकायते सही मिली। जिसके बाद सांसद ने खुद ही सारी फाइलों को क्लोज करने के साथ ही संबंधित विभागीय उप मुख्यमंत्री को निलंबन के लिए पत्र लिखा।

इस मामलें में एक नया मोङ आ गया हैं। जिस पीडब्लूडी विभाग और उसके अधिशासी अभियन्ता को निरीक्षण के दौंरान सांसद ने भष्ट्राचार में लिप्त पाया था, उसे बचाने के लिए जिले के मधुबन विधानसभा के विधायक और प्रदेश के पर्य़ावरण मंत्री दारा सिहं चौंहान बचाव के लिए मैंदान में आयी हैं। मंत्री ने उप मुख्यमंत्री केसव प्रसाद मौर्या को पत्र लिख कर उसका निलंबन रोकने की मांग उठायी हैं।

साथ ही अपने पत्र में अधिशासी अभियन्ता को बेहद ही ईमानदार बताया हैं। जिसके बाद से ही सांसद और मंत्री का लेटर सोशल मिडीया पर पुरी तरह से वायरल हो गया हैं और बीजेपी के सांसद और मंत्री जनता के दरबार में आमने सामने हो गये हैं। साथ ही राजनीतिक गलियारों में इसका पारा सातवे आसमान पर चङा हुआ हैं।
—————-

1-KGMU के ट्रॉमा सेंटर में भीषण आग, गि‍रते-पड़ते भागे मरीज, CM ने द‍िए जांच के आदेश—

लखनऊ. किंग जॉर्ज मेडिकल यू्निवर्सिटी (केजीएमयू) की ट्रामा सेंटर के न्यूरो सर्जरी वार्ड में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। इससे वहां अफरा-तफरी का माहौल बन गया। घटना के समय वार्ड में कई मरीज और तीमारदार मौजूद थे। चीख-पुकार सुनकर आनन-फानन में अस्पताल प्रशासन हरकत में आया और मरीजों को सुरक्षित बाहर निकाला गया। हालांकि, समय रहते आग पर काबू पा लि‍या गया। इससे एक बड़ा हादसा टल गया।
घटना सोमवार सुबह करीब नौ बजे की है। न्यूरो सर्जरी विभाग के वार्ड में लगे इलेक्ट्रिक पैनल में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। इससे वार्ड में धुआं भर गया। आग की खबर लगते ही अस्पताल प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए। आनन-फानन में भर्ती मरीजों को वहां से निकालकर आर्थोपेडिक के इमरजेंसी वार्ड में शिफ्ट किया गया।
ट्रॉमा सेंटर के इंचार्ज डॉ. एसएन शंखवार ने बताया कि आग लगने की सूचना लगते ही सबको सुरक्षित निकाल लिया गया। कोई हताहत नहीं हुआ। टेक्नीशियन को बुलाकर कनेक्शन सही करवाया गया। कुछ समय बाद ही वार्ड फिर शुरू हो गया।
एकाएक निकलने लगी चिंगारी
वार्ड में भर्ती सीतापुर के खैराबाद के कमरून के साथ बैठी पोती फातिमा ने बताया कि उनके बेड के ठीक बगल में लगे पैनल में एकाएक तेज चिंगारी निकलने लगी। इसके बाद उन्होंने तुरंत बेड को वहां से हटाया। इससे वे तो बाल-बाल बच गए, पर उनकी मेडिकल रिपोर्ट जल कर खाक हो गई।

——-
2-सांसद ने दर्ज कराया एफआईआर
मऊ जिले में फेसबुक पर किए गए आपत्तिजनक पोस्ट पर जिले के घोसी लोकसभा क्षेत्र के भाजपा सांसद हरिनारायन राजभर ने एफआईआर दर्ज कराया हैं। पुलिस ने सांसद की तहरीर पर आईटी एक्ट में रिपोर्ट दर्ज किया हैं। साथ ही जांच के बाद आरोपी के विरुद्ध कार्रवाई करने की बात कह रही हैं। वही आपत्तिजनप पोस्ट के बाद सांसद समर्थकों में पोस्ट करने वाले के खिलाफ खासी नाराजगी हैं।

बताते चले कि सांसद ने दर्ज मामलें में आरोप लगाया हैं कि उनके फेसबुक पर कोई व्यक्ति अपनी आईडी बदल बदल कर आपत्तिजनक टिप्पणी कर रहा हैं। जिसके नाम से पोस्ट किया गया हैं उसका नाम धमेन्द्र राजभर हैं।

उसने सांसद के साथ साथ भाजपा पर भी आपत्तिजनक पोस्ट किया हैं। इससे पार्टी और उनके सम्मान को ठेस पहुचें हैं। फिलहाल इस मामलें पर अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सांसद के तहरीर पर केस दर्ज कर लिया गया हैं। जांच शुरु हो गयी हैं जल्दी आरोपी पुलिस की गिरफ्त में हो गया। इतना ही सांसद ने आरोपी के पकङे जाने पर उस पर सम्मान को ठेस पहुचाने के मामलें को लेकर मानहानी का दावा करने की भी बात को कह रहे हैं।

——————–
महागठबंधन बचाने के लिए सोनिया से मिले शरद यादव, लालू-नीतीश में बातचीत बंद
तेजस्वी मामले पर राजद को दिया गया जदयू का चार दिन का अल्टीमेटम भी खत्म हो गया है। इसी सिलसिले में मुख्यमंत्री के आवास पर रविवार को जदयू की बैठक बुलाई गई है। समझा जाता है कि अपनी छवि को लेकर चिंतित नीतीश इस बैठक में कोई बड़ा फैसला कर सकते हैं। जदयू की दिली इच्छा जहां तेजस्वी का इस्तीफा लेने की है वहीं राजद इसके लिए कतई तैयार नहीं है।

वहीं, लालू यादव के अड़ जाने पर अब शरद यादव ने सोनिया गांधी से मुलाकात की है। सूत्रों के मुताबिक, शरद यादव ने सोनिया गांधी से बंद कमरे में मुलाकात की। मुलाकात में दोनों नेताओं ने महागठबंधन बचाने और बिहार सरकार चलती रहे पर जोर दिया। हालांकि राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और जनता दल (यू) के बीच बढ़ती दरार की सुगबुगाहट को तब और हवा मिल गई जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के एक कार्यक्रम में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पहुंचे ही नहीं। कुछ समय तक तो उपमुख्यमंत्री के इंतजार में उनकी नेमप्लेट को ढंककर रखा गया लेकिन बाद में उसे मंच से ही हटा लिया गया। तेजस्वी की इस गैर-मौजूदगी पर तरह तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं।

शनिवार को आयोजित ‘विश्व युवा कौशल दिवस’ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री दोनों को शामिल होना था। सरकार के इस कार्यक्रम में तेजस्वी का नाम विशिष्ट अतिथियों की सूची में शामिल था और मंच पर तेजस्वी के लिए कुर्सी और नेमप्लेट भी रखी गई थी। लेकिन कार्यक्रम शुरू होने तक उनकी नेमप्लेट को नीले गत्ते से ढंककर उनका इंतजार किया गया। लेकिन जब वह नहीं पहुंचे तो नेमप्लेट हटाकर उनकी कुर्सी पर योजना एवं विकास विभाग के मंत्री ललन सिंह बैठे पाए गए।

विडिओ : फिर मिला विधान सभा में संदिग्ध पाउडर मचा हड़कंप

यूपी व‌िधानसभा में मानसून सत्र के दौरान व‌िस्फोटक म‌िलने के बाद जांच एजेंस‌ियों को शुक्रवार देर रात फिर से संद‌िग्ध पदार्थ मिला है। इस खबर के मीडिया में आने के बाद कुछ चैनलोंं ने फ‌िर से व‌िस्फोटक मिलने न्यूज चला दी ज‌िस पर यूपी एटीएस आईजी असीम अरुण ने स्पष्टीकरण भा दिया।

उन्होंने बताया कि एटीएस की चेक‌िंग के दौरान पान मसाले वगैरह के पैकेट वगैरह म‌िले थे। चैनल ने ज‌िस पैकेट का ‌ज‌िक्र क‌िया है उसमें मैग्नीशीयम सल्फेट म‌िला है। ये पदार्थ पैक‌िंग मैटीरियल में ड्राइंग एजेंट के रूप में प्रयोग क‌िया जाता है। एटीएस ने इसको कब्जे में ले ल‌िया है। जरूरत होगी तो इसका वैज्ञान‌िक परीक्षण क‌िया जाएगा।
————
बाराबंकी :पुरानी रंजिश को लेकर दो पूर्व प्रधानो जम कर हुई मार-पीट चली गोली कई घायल,3 गंभीर लखनऊ ट्रामा रिफर,लोनीकटरा के भिलवल गाँव का मामला लोनीकटरा थाने के भिलवल चौराहा पर प्रधानी चुनाव की चली आ रही रंजिश में शनिवार दोपहर चली गोली। प्रधान पति सुशील जेठ व भाजपा नेता प्रहलाद जायसवाल हुए लहूलुहान।प्रहलाद के पुत्र पुष्कर को मारी गई गोली। आधा दर्जन के करीब बताये जा रहे हमलावर पूर्व प्रधान लाल बहादुर यादव के पुत्र के साथ दिया घटना को अंजाम। घायलों को ट्रामा सेंटर लखनऊ
रिफर किया गया |

—————
2-बाराबंकी में महिला ने लगाया रेप का आरोप
—————
3-मऊ जनपद के ADM की तस्वीरें उस की असलहा ट्रायल
न समझी उस समय कैमरे में कैद हो गई जब की उसने अपने ही ऑफिस में कही से बरामद अवैध हथियार को कार्यलय में ही ताबतोड़ ट्रिगर दबाने लगे वो तो अच्छा था की वो तमन्च्चा लोड नही था वर्ना कोई बड़ी घटना हो सकती थी जब की नियमानुसार किसी भी अवैध तमन्न्चे असलहे को बरामदगी होने पर मौके पर या थाने में उसे शील करके नाय्यिक मजिस्ट्रेट के सामने प्रस्तुत किया जाता है इस की तो लापरवाही तो हुई ही वही ADM महोदय गैर जिम्मेदार रवाहिये अपनाते हुए नजर आये

Video : बाराबंकी : रात को पडोसी की छत पर गया था सुबह होते-होते गला दबाकर मार डाला

बाराबंकी : कोतवाली बदोसरांय क्षेत्र के ग्राम शेखनपुरवा में एक युवक की गुरुवार की देर रात गला दबाकर हत्या कर दी गई। सूचना पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।

शेखनपुरवा निवासी जमुना प्रसाद ने बदोसरांय पुलिस को दी गयी तहरीर में कहा है कि उसका 27 वर्षीय पुत्र ललित कुमार का पड़ोसी पंकज पुत्र तीरथ ने अपनी छत पर गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या के दौरान हो रहे शोरगुल को सुनकर जगे मृतक के भाई राम किशोर व भाभी बैजन्ती ने देखा की पंकज ललित का गला दबा रहे थे। हमलोगो को देख पंकज मौके से भाग गया। तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज करके शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है। जबकि दूसरे पक्ष ने आरोप लगाया कि मृतक ललित बीती रात करीब 11 बजे सीढी से पंकज की छत पर चढ गया और छत पर सो रही पंकज की पत्नी रानी का हाथ पकड़कर दुराचार करने की नियत से छेडछाड करने लगा तो उसके शोरगुल पर पंकज भी जग गया और दोनो के बीच हाथापायी होने लगी। शोरगुल सुनने पर मृतक के परिजन बडे भाई रामकिशोर व भाभी बैजन्ती मौके पर पंहुची। और ललित को सीढी से उतार कर दो चार हाथ मारते हुये घर लेकर चले गए। उसके बाद तीन बजे अचानक संदिग्ध अवस्था मे ललित की मौत की बात कहकर शोरगुल मचाने लगे। ग्रामीणों की माने तो परिजनों ने उसके अंतिम संस्कार की तैयारी भी कर ली थी, लेकिन अचानक पंकज को फंसाने का षड़यन्त्र रच दिया गया। इस सम्बंध मे कोतवाली प्रभारी श्याम नरायण पांडे का कहना है कि मृतक के पिता की तहरीर पर पंकज के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी की जा रही है।
———-
पति ने फोन पर दिया तीन तलाक, पत्नी ने कहा- हिंदू लड़कियों को फंसाकर करता है उनका शोषण

बांदा.यूपी के बांदा में नागपुर बम बम ब्लास्ट आरोपी द्वारा अपनी पत्नी को फोन पर तीन तलाक देने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां एक महिला ने नागपुर बम धमाके के आरोपी अपने पति पर फोन से तीन तलाक देने का आरोप लगाया है। सन 2011 में उसने शम्सुद्दीन से प्रेम विवाह किया था। उसने बताया कि उसका पति कई साल तक महाराष्ट्र की जेल में बंद रहा। राष्ट्र विरोधी कार्यों में लिप्त रहने के कारण वह उसका विरोध करती थी। जिससे उस पर उसके अत्याचार का पहाड़ टूट पड़ा। पति लगातार उसे तलाक देकर छोड़ देने की धमकी देता था। महिला के अनुसार उसका पति लव जेहाद के तहत हिन्दू लड़कियों को पहले तो अपने प्रेम जाल में फंसाता था, फिर उनका शोषण कर छोड़ देता था। महिला को उसके पति ने 25-05-2017 को फोन पर तीन तलाक दिया। घटना का पता लगते ही हिंदूवादी संगठन महिला के पक्ष में उतर आए हैं और पुलिस से कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। पीड़ित महिला ने बांदा एसपी शालिनी से मिलकर न्याय की गुहार लगाई है। एसपी ने उन्हें न्याय का भरोसा दिया है। बांदा पुलिस के अपर एसपी अजय प्रताप ने शिकायत की पुष्टि करते हुए बताया कि पीड़िता के आरोपों की जांच की जा रही है।