Vidio-इस बुलेटिन में देखिये : यहाँ मुर्गी लूट ले गए बादमाश

 

<iframe width=”560″ height=”315″ src=”https://www.youtube.com/embed/0iplQW3GhgE” frameborder=”0″ allowfullscreen></iframe>

लखीमपुर खीरी के निघासन में  पुलिस की लचर कार्य शैली के चलते चोरों के हौसले बढ़ते जा रहे हैं बीती रात को बंधक बनाकर लूट का मामला सामने आया है जिसमें लगभग दस नकाब पोसो ने झंडी ग्राम के ही आरिफ अली पुत्र शमशाद अली के मुर्गी फार्म में घुसकर उनको और उनके परिवार वालों को बंधक बनाकर लूट लिया है ।

 

आपको बता दे कि उनका एक मुर्गी फार्म झंडी गाँव के पश्चिम गाँव टॉपर पुरवा के पास है जहाँ बीती रात करीब 1 बजे 10 नकाब पोश बदमाशों ने मुर्गी फार्म से इन्वर्टर, बैटरा, 250 एम.पी.आर की प्लेट सौर ऊर्जा, एक साइकिल, 2 पंखा बिजली वाले,2500 रुपये नगद व लगभग 2 कुंतल मुर्गा लेकर फरार हो गए। जिसकी जानकारी सुबह होने पर लोगों को पता चली है फिलहाल
पीड़ित ने रिपोर्टिंग पुलिस चौकी झंडी में तहरीर देकर कार्य वाही की माँग की है

महिला ने पुलिस पर किया हमला, कारों के शीशे तोड़े

बाराबंकी : मानसिक रूप से विक्षिप्त एक महिला ने शनिवार को सड़क पर जमकर हंगामा किया। तेज रफ्तार वाहनों के आगे कूदकर लेट गई। उसे हटाने आयी पुलिस पर हमला कर दिया। यही नहीं, कई कारों के शीशे तोड़े और चालक पर हमलाकर दिया। महिला को किसी प्रकार महिला थाने पहुंचाया गया।

कोतवाली नगर अंतर्गत पटेल तिराहे पर शनिवार सुबह करीब 11 बजे एक महिला अचानक बीचो-बीच सड़क पर लेट गई। इससे यातायात बाधित होने लगा तो टीएसआइ सूर्यनाथ यादव व यातायात पुलिस ने उसे हटाना चाहा तो वह आक्रामक हो गई। विक्षिप्त महिला ने कहा कि हटाना है तो महिला पुलिस बुलाओ। टीएसआइ ने बताया कि पीआरवी पर सवार महिला कांस्टेबल की मदद से उस विक्षिप्त को महिला थाने पहुंचाया गया। इस दौरान करीब 20 मिनट तक यातायात प्रभावित रहा और लोगों का जमावड़ा लगा रहा। यहां मामला शांत होने के करीब आधे घंटे बाद कंपनीबाग में सड़क पर महिला के उपद्रव करने की सूचना आयी। महिला एक कार का वाइप तोड़कर अन्य कारों के शीशे तोड़ रही थी। इस दौरान बंकी निवासी आसिफ और कंपनी बाग के शुएब की कार के शीशे पर हमला किया। इस दौरान लोगों का जमावड़ा लग गया। पुलिस पहुंची तो वह बीच सड़क पर लेटी हुई थी। चौकी इंचार्ज सिविल लाइंस, कोतवाली से पुलिस बल सहित जीप और महिला थाने की पुलिस उसे काबू करने के लिए पहुंची। उसे जब सड़क हटाने का प्रयास किया जाने लगा तो विक्षिप्त ने महिला सिपाही पर हमला कर दिया। किसी प्रकार उसे काबू कर जबरन महिला थाने की जीप में बिठाया गया। वह रास्ते भर महिला कांस्टेबल और होमगार्ड को गाली देती और पीटती रही। हद तो तब गई जब जीप जैसे ही महिला थाने पहुंची तो आगे बैठी महिला कांस्टेबल के बाल व वर्दी पकड़ कर खींचना शुरू कर दिया। तीन सिपाही मिलकर उसे छुड़ा सके। जीप से उतरते ही वह ललकारते हुए बोली आओ मारो मुझे कौन मारेगा? थाने के अंदर एक महिला के हाथ में लकड़ी देख उस पर हमलाकर दिया। उसे जद्दोजहद के बाद थाने के पीछे आंगन में ले जाया गया। महिला थाना प्रभारी निरीक्षक आशा त्रिपाठी ने बताया कि यह महिला मानसिक रूप से विक्षिप्त है। शांत होने पर उससे नाम, पता आदि पूछा जाएगा।

GST: पीएम मोदी और राष्ट्रपति ने बजाई जीएसटी की घंटी, लागू हुआ एक देश एक टैक्स

 एक देश… एक टैक्स… एक बाजार का सपना पूरा हुआ। रात 12 बजते ही पूरा देश 70 साल से चली आ रही टैक्स प्रणाली से मुक्त होकर जीएसटी युग में पहुंच गया। संसद का सेंट्रल हॉल इस क्रांतिकारी बदलाव का गवाह बना और शुक्रवार आधी रात के बाद तक कार्यक्रमों से गुलजार रहा। कार्यक्रम में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के बाद घंटा बजाकर जीएसटी युग का ऐलान हुआ। इसके साथ ही सेंट्रल एक्साइज, स्टेट एक्साइज, सर्विस, वैट, सेनवैट, कस्टम, चुंगी, एंट्री टैक्स, लग्जरी जैसे डेढ़ दर्जन टैक्स खत्म हो गए और उनकी जगह 5, 12, 18 और 28 फीसदी की जीएसटी लागू हो गई।
1 जुलाई से गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स (GST) लागू हो चुका है। इसमें खाने-पीने के ज्यादातर सामान सस्ते होंगे। फल, सब्जियां, दालें, गेहूं, चावल आदि पहले की तरह टैक्स फ्री रहेंगे। हालांकि चिप्स, बिस्किट, मक्खन, चाय और कॉफी जैसे प्रोडक्ट्स पर 10% तक ज्यादा टैक्स देना होगा। खाद्य तेल पर टैक्स 7% कम लगेगा। घर बनाने के सामान सीमेंट, प्लाईबोर्ड, टाइल्स पर 8.75% तक ज्यादा टैक्स लगेगा, लेकिन बाकी चीजों पर घटेगा।बता दें कि GST को लेकर भास्कर आपका नॉलेज सोर्स बना हुआ है।
आखिर क्या है GST?
– GST का मतलब गुड्स एंड सर्विसेस टैक्‍स है। इसको केंद्र और राज्‍यों के 17 से ज्‍यादा इनडायरेक्‍ट टैक्‍स और 23 तरह के सेस के बदले में लागू किया जाएगा। ये ऐसा टैक्‍स है, जो देशभर में किसी भी गुड्स या सर्विसेस की मैन्‍युफैक्‍चरिंग, बिक्री और इस्‍तेमाल पर लागू होगा।
– इससे एक्‍साइज ड्यूटी, सेंट्रल सेल्स टैक्स (सीएसटी), स्टेट के सेल्स टैक्स यानी वैट, एंट्री टैक्स, लॉटरी टैक्स, स्टैम्प ड्यूटी, टेलिकॉम लाइसेंस फीस, टर्नओवर टैक्स, बिजली के इस्तेमाल या बिक्री और गुड्स के ट्रांसपोर्टेशन पर लगने वाले टैक्स खत्म हो जाएंगे।
– यह वन नेशन, वन टैक्स के कॉन्सेप्ट पर काम करेगा।
GST अभी कहां लागू नहीं हाेगा?
अभी जम्मू-कश्मीर को छोड़कर सभी राज्य स्टेट जीएसटी कानून पारित कर चुके हैं। एेसे में जम्मू-कश्मीर को छोड़ पूरे देश में यह लागू हो जाएगा।
यूपीए ने 2006-07 के बजट में पहली बार किया था जिक्र
जीएसटी का विचार करीब 30 साल पुराना है। हालांकि, इसका जिक्र सबसे पहले 2003 में केलकर टास्क फोर्स की रिपोर्ट में हुआ था। 2006-07 के बजट में पहली बार यूपीए सरकार ने जीएसटी का प्रस्ताव शामिल किया था। 1 अप्रैल, 2010 से देशभर में जीएसटी लागू करने की बात कही गई थी। 2011 में प्रणब मुखर्जी ने वित्त मंत्री रहते हुए इसे संसद में पेश किया था।
तंबाकू प्रोडक्ट पर 28% टैक्स के साथ-साथ 290% तक सेस भी लगेगा
– कच्चा तेल, पेट्रोल, डीजल, एटीएफ, प्राकृतिक गैस और शराब को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है।
– सीमेंट, प्लाई, टाइल्स पर टैक्स बढ़ेगा। लेकिन घर बनाने के बाकी ज्यादातर सामान सस्ते होंगे।
– गुटखा पर 204% सेस, पान मसाले पर 60% जबकि तंबाकू के लिए यह दर 71-204% तक है। 28% जीएसटी अलग।
– सिगार और पाइप में भरे जाने वाले तंबाकू मिक्स पर 28% जीएसटी के अलावा 290% सेस।
5 प्वाइंट में समझिए जीएसटी में क्या बदला?
पहले: 17 टैक्स, 23 सेस, टैक्स पर टैक्स
अब: 1 जीएसटी, टैक्स पर टैक्स खत्म
पहले: हर टैक्स का अलग रिटर्न
अब: बस एक टैक्स का रिटर्न
पहले: हर टैक्स का अलग विभाग
अब: सिर्फ एक टैक्स का विभाग
पहले: सिर्फ एक टैक्स का विभाग
अब: सिर्फ एक टैक्स का विभाग
पहले: राज्यों के 1,150 चुंगी बैरियर
अब: सभी बैरियर खत्म
– आज से 19 फीसदी आइटम 28% टैक्स स्लैब में, 81 फीसदी सामान 18% और इससे नीचे के स्लैब में। सोने पर 3% टैक्स।
——