आनंदपाल का शव लेने को तैयार नहीं परिजन, कटारिया बोले चाहे जिस एजेंसी से करा लो जांच

DD Sharma : सांवराद (नागौर)।पुलिस एनकाउंटर में ढेर हुए गैंगस्टर आनंदपाल के अंतिम संस्कार को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। आनंदपाल का शव अभी चूरू जिले के रतनगढ़ में ही है। परिजनों ने रविवार को शव लेने से इनकार कर दिया था। प्रशासन के समझाने के बाद भी वे नहीं माने थे। वे सोमवार को भी अपनी मांगों पर अड़े रहे। उधर, नागौर जिला पुलिस छावनी बन गया। आनंदपाल के परिजन और करीब 2500 लोग गांव के बाहर टेंट लगारक बैठे हुए हैं। उनका आरोप है कि गांव पहुंचने वाले लोगों को पुलिस परेशान कर रही हैै। परिजनों ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को मांग पत्र भेजा है।

वहीं गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा है कि सीबीआई या किसी भी एजेंसी से जांच करा लें। जानिए और इस बारे में परिजनों ने आनंदपाल का शव लेने से इनकार कर दिया। परिजनों का आरोप है कि आनंदपाल का एनकाउंटर फर्जी है। उनकी मांग है कि एनकाउंटर की जांच सीबीआई से कराई जाए। आनंदपाल के भाइयों रुपेंद्रपाल उर्फ विक्की और मंजीत को भी सांवराद लाया जाए।आनंदपाल के मामा अमर सिंह का आरोप है कि आनंदपाल का जानबूझकर एनकाउंटर किया गया है और उसे सरेंडर करने का मौका देने की बात झूठी है। एसओजी और पुलिस दोनों उसे मारना ही चाहते थे।

परिजनों की मांग है कि पकड़े गए दोनों भाई आनंदपाल के अंतिम संस्कार में भाग लें और पूरे मामले की सीबीआई जांच कराई जाए तो ही आनंदपाल का शव लिया जाएगा।उल्लेखनीय है कि शनिवार को चूरू के मालासर में एनकाउंटर में आनंदपाल ढेर हुआ था। इसके बाद रविवार को सांवराद में माहौल तनावपूर्ण हो गया था। आनंदपाल के समर्थकों ने पुलिस पर पथराव किया था तथा लाडनूं मेगा हाइवे जाम कर दिया था। पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े थे। इसमें एक पुलिस अधिकारी को चोट आई थी।

हाइवे पर पुलिस सांवराद गांव जाने वाले लोगों की तलाशी लेती रही। साथ ही संदिग्ध लोगों को पकड़ा भी। रावणा राजपूत समाज के लोगों का गांव पहुंचना जारी रहा। पुलिस का जाब्ता वहां मौजूद रहा। पुलिस ने हाइवे सहित सभी प्रमुख मार्गों पर कड़े सुरक्षा इंतजाम किए। ड्रोन कैमरों से सभी जगहों पर निगाह रखी गई।
पुलिस ने तलवार के साथ एक युवक को पकड़ा। पुलिस संदिग्ध लोगों को शांतिभंग में पकड़ा।

कटारिया बाेले, किसी भी एजेंसी से करा लो जांच

आनंदपाल के परिवार ने एनकाउंटर की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है। इस पर गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा, सीबाीआई सहित चाहे जिस एजेंसी से जांच करा लो। उन्होंने कहा कि आनंदपाल को सरेंडर करने के लिए कहा गया था, लेकिन उसने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी।

आनंदपाल की बेटी भी पहुंची

आनंदपाल की बेटी योगिता सिंह भी सोमवार को जयपुर से सांवराद पहुंच गई।
ये डटे हुए हैं गांव मेंअखिल राजस्थान रावणा राजपूत महासभा प्रदेशाध्यक्ष वीरेंद्र सिंह रावणा, उपाध्यक्ष गणपत सिंह रावणा पिडियार भीलवाड़ा, युवा अध्यक्ष एडवोकेट हिम्मत सिंह सोलंकी, अनिल सिंह बडगूजर, अध्यक्ष मुकेश सिंह जोधा, अजमेर जिला अध्यक्ष राजवीर सिंह, तहसील समाज मेड़ता रतन सिंह सोलंकी, करणी सेना अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी, हजारों रावणा राजपूत यहीं बेठे हुए हैं।सीएम को भेजे मांगपत्र में यह हैं मांगेंआनंदपाल एनकाउंटर की जांच सीबीआई से कराई जाए।आनंदपाल के दाह संस्कार में शामिल होने के लिए आ रहे समाज के लोगों को पुलिस झूठे मुकदमों में फंसा रही है।

उन्हें छोड़ा जाए।ढाई साल पहले बीकानेर जेल में बंद आनंदपाल पर की गई फायरिंग की सीबीआई जांच कराई जाए।आनंदपाल की बेटी व अन्य परिजनों पर मुकदमे दर्ज कर जेलों मेें ठूसने के साथ ही भय का वातावरण बनाया जा रहा है जिसे रोका जाए।आनंदपाल के दाह संस्कार में उसके भाई मनजीत सिंह, रूपेंद्रपाल सिंह व देवेंद्रपाल सिंह उर्फ गट्‌टू की मौजूदगी सुनिश्चित की जाए। ऐसा इसलिए क्योंकि हिंदू रीति रिवाज के अनुसार आनंदपाल बड़े भाई के साथ पिता का भी दर्जा रखता था।एनकांउंटर में आनंदपाल की मौत के दोषी पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए।
मांग पत्र में लिखा है कि उपरोक्त बिंदुओं पर विचार कर उचित निर्णय किया जाए ताकि आनंदपाल का अंतिम संस्कार किया जाए।

NDTV24 With DK Goswami-अमेरिका से प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रयपति डोनल्ड ट्रम्प के भाषण का सीधा प्रसारण देखिये

NDTV24 With DK Goswami-अमेरिका से प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रयपति डोनल्ड ट्रम्प के भाषण का सीधा प्रसारण देखिये–

मोदी-ट्रंप मुलाकात से पहले पाक को बड़ा झटका, सैयद सलाउद्दीन ‘ग्लोबल टेररिस्ट’ घोषित दो दिवसीय अमेरिकी दौरे पर पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी की अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात से पहले पाकिस्तान को लगा बड़ा झटका ।

LIVE: ट्रंप ने पीएम मोदी को महान प्रधानमंत्री बताया, कहा- मोदी ने अच्छा काम किया

दो दिवसीय अमेरिकी दौरे पर पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी ने आज अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की। दोनों करीब 20 मिनट तक दोनों अकेले में बातचीत करेंगे।

डोनाल्ड ट्रंप ह्वाइट हाउस में पहली बार भारतीय प्रधानमंत्री के लिए ‘वर्किंग डिनर’ का आयोजन कर रहे हैं। पीएम मोदी ने रविवार को वॉशिंगटन में दुनिया के टॉप 21 सीईओ से मुलाकात की और उन्हें भारत में निवेश के लिए आमंत्रित किया। गौरतलब है कि मोदी और ट्रंप की इस मुलाकात पर पूरी दुनिया की नजर है।

बाराबंकी-सफेदाबाद में शराब के नशे में स्टंट करना पड़ा महंगा

बाराबंकी-सफेदाबाद में शराब के नशे में स्टंट करना पड़ा महंगा डिवाडर से टकराई बाइक नीचे जमीन गिरकर हुए गंभीर घायल विधायक सतीश शर्मा ने दिखाई संवेदना खुद घायल को एम्बुलेंस बुलाकर अस्पताल पहुंचाया |

बाराबंकी-सफेदाबाद में बीमारी तंग इलाज करते-करते हार गया जिंदगी जंग

बाराबंकी-सफेदाबाद में बीमारी तंग इलाज करते-करते हार गया जिंदगी जंग और ट्रेन से कटकर कर ली आत्महत्या सुसाइड नोट में लिखा मैं अपने बच्चों का दर्द नहीं देख पा रहा हूँ |

दिखा चाँद ईद आज लोगो ने एक दूसरे के गले मिलकर दी मुबारकबाद

लखनऊ.अरब देशों में रविवार को एक महीने का रोजा रखने के बाद ईद मनाई जा रही है। वहीं लखनऊ में धर्मगुरु मौलाना रशीद फरंगी महली रविवार शाम को चांद देख कर ईद का ऐलान कर दिया है। इसके तहत यूपी में सोमवार को ईद मनाई जाएगी। उन्होंने सभी प्रदेशवासियों को ईद की मुबारकबाद भी दी है। वहीं, बीते गुरुवार की रात चलती ट्रेन में एक रोजेदार की हत्या से गुस्साए मुस्ल‍िम समाज के लोगों ने काली पट्टी बांधकर ईद की नमाज पढ़ने का ऐलान क‍िया है।

-बता दें, सीएम हाउस पर हर साल होने वाली इफ्तार पार्टी भी इस बार नहीं हुई। वहीं, सीएम योगी ईदगाह भी नहीं जाएंगे, बल्कि उनके प्रतिनिधि के तौर पर डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ईदगाह पहुंच कर सभी को ईद की बधाई देंगे।
कई मुस्लिम संगठन काली पट्टी बांध कर पढेंगे नमाज
-बीते द‍िनों गुरुवार रात एक लोकल ट्रेन से दिल्ली से बल्लभगढ़ जा रहे एक 16 साल के एक मुस्ल‍िम युवक जुनैद हाफिज़ को ट्रेन में भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला था।
-ऐसे में चलती ट्रेन में रोजेदार मुस्लिम व्यक्ति की हत्या के बाद से मुस्लिम गुस्से में हैं। यूपी के मशहूर शायर इमरान प्रतापगढ़ी सोशल मीडिया पर मुहीम चला रहे हैं कि मुस्लिम ईद की नमाज काली पट्टी बांध कर पढ़ें।
-मशहूर शायर इमरान का कहना है कि ईदगाह खुशी का त्यौहार है, लेकिन इसके बदले समाज ने हमें खून से सनी लाशें दी हैं।
-उन्होंने कहा कि अब कड़े विरोध की जरूरत है, इसलिए हम लोकंत्रिक तरीके से काली पट्टी बांधकर अपना विरोध जताएंगे।
-बता दें, ईद की तैयारियां बाजारों, घरों और मस्जिदों में शुरू हो गई है। अलग-अलग मस्जिदों ने ईद के नमाज के लिए अपना समय भी घोषित कर दिया है। सोमवार को लखनऊ के ऐशबाग ईदगाह में बड़ी संख्या में नमाजी जुटेंगे।
शहर के मस्जिद में नमाज का ये रहेगा समय

– ईदगाह ऐशबाग पर नमाज सुबह 10 बजे होगी।
– वहीँ बड़े इमामबाड़े में स्थित आसिफी मस्जिद में ईद की नमाज सुबह 11 बजे होगी।
– टीले वाली मस्जिद में सुबह 9 बजे होगी।
– ईदगाह खदरा में सुबह साढ़े 9 बजे नमाज होगी।
– वहीँ चांद वाली मस्जिद ताल कटोरा में नमाज का वक्त 9 बजे होगा।
– नदवतुल उलमा मस्जिद में सुबह 8 बजे नमाज होगी।
– शाहमीना शाह में साढ़े 8 बजे नमाज होगी।
– मस्जिद तकवियतूल इमान ने सुबह 7 बजे नमाज होगी।
– आमना मस्जिद बंगला बाजार में सवा 8 बजे नमाज होगी।
– खजूर वाली मस्जिद में सुबह 8 बजे नमाज होगी।
– मदीना मस्जिद राजाजी पुरम में सुबह 9 बजे नमाज होगी।
– जामा मस्जिद कस्बा निगोहां में सुबह साढ़े 8 बजे नमाज होगी।
– मस्जिद अलफैज बंगला बाजार सुबह 8.45 बजे होगी।
– ईदगाह उजरयाव में सुबह 8:30 बजे।
– वहीँ नदवतुल उलमा में सुबह 8 बजे।
– जबकि मदीना मस्जिद राइन नगर हरदोई रोड पर 8:30 बजे नमाज होगी।

NDTV24 With DK Goswami-लाइव : देखिये अमेरिका में मोदी का भारतीयों को सम्बोधन

NDTV24 With DK Goswami-लाइव : देखिये अमेरिका में मोदी का भारतीयों को सम्बोधन

Video : आखिरकार आनंदपाल मारा गया,गैंगस्टर की 5 राज्यों की पुलिस को थी तलाश

डीडी शर्मा जयपुर | आधी रात को हुए एनकाउंटर के पुलिस ने राहत की साँस ली है | करीब डेढ़ साल से फरार चल रहा कुख्यात बदमाश आनंदपाल सिंह आखिरकार मारा गया। शनिवार रात करीब 11:25 बजे एसओजी ने चूरू के मालासर में एनकाउंटर के दौरान उसे मार गिराया। मुठभेड़ के दौरान आनंदपाल और उसके दो साथियों ने एके 47 समेत अन्य हथियारों से 100 राउंड फायर किए। इस दौरान आनंदपाल को 6 गोलियां लगी। आनंदपाल राजस्थान, मध्य प्रदेश यूपी, पंजाब और हरियाणा में वॉन्टेड था।

एसओजी के सीआई सूर्यवीर सिंह के हाथ में फ्रैक्चर आया, जबकि पुलिसकर्मी सोहन सिंह धर्मपाल गोलियां लगने से घायल हो गए। सोहन की हालत गंभीर बताई जा रही है।आनंदपाल के पास से 2 एके-47 400 कारतूस मिले हैं। एसओजी ने आनंदपाल के दो भाइयों देवेंद्र उर्फ गुट्‌टू और विक्की को हरियाणा के सिरसा से गिरफ्तार किया था।

पूछताछ में पता चला कि आनंदपाल मालासर में श्रवण सिंह नामक शख्स के घर पर छिपा हुआ है।डीजीपी मनोज भट्ट ने बताया कि पिछले डेढ़ महीने से एसओजी के आईजी दिनेश एमएन के सुपरविजन में एडिशनल एसपी संजीव भटनागर हरियाणा में डेरा डाले हुए थे।इस दौरान संजीव भटनागर ने आनंदपाल के भाई विक्की देवेन्द्र को सिरसा से शाम छह बजे गिरफ्तार किया। इसके बाद एसओजी की एक टीम करण शर्मा की अगुआई में चूरू जिले के मालासर गांव में पहुंची। यहां आनंदपाल दो दिन पहले आया था।एसओजी ने घेराबंदी कर आनंदपाल को पकड़ने की कोशिश की, लेकिन वह छत पर जाकर पुलिस पर फायरिंग करने लगा। एसओजी की जवाबी कार्रवाई में वह मारा गया।

108 लोग गिरफ्तार हुए, लेकिन एसओजी पुलिस के पहुंचने से पहले ही गायब हो जाता था आनंदपाल

एसओजी-एटीएस के अलावा नागौर, बीकानेर, सीकर अजमेर जिलों की पुलिस ने आनंदपाल गैंग के 108 जनों को आनंदपाल को पनाह देने, वाहन मुहैया कराने, पुलिसकर्मियों पर फायरिंग हत्या करने और आनंदपाल के इशारे पर संगीन वारदातों को अंजाम देने के आरोप में गिरफ्तार किया।फरारी के पांच माह बाद नागौर पुलिस ने आनंदपाल का पीछा किया, लेकिन वह कमांडो खुमाराम पर फायरिंग कर भाग गया। फायरिंग से खुमाराम की मौत हो गई थी।एसओजी ने आनंदपाल के साथी को भरतपुर से पकड़ा। आनंदपाल ग्वालियर में था। एसओजी पहुंची तो भाग गया। जोधपुर के फलौदी में एक माह पहले एसओजी ने दबिश दी, लेकिन आनंदपाल एक दिन पहले ही भाग गया। ऐसे में एसओजी को उसको शरण देने वाले आरोपियों को ही गिरफ्तार करना पड़ा। बीकानेर में अमनदीप सिंह के फार्म हाउस से पुलिस एसओजी की दबिश से तीन दिन पहले आनंदपाल भाग गया था। किशनगढ़ में आनंदपाल डेढ़ माह पहले आया हुआ था, लेकिन एसओजी के पहुंचने से पहले वह भाग गया।

Anandpal Singh killed in police encounter near Churu’s Malasar

Jaipur: Notorious criminal Anandpal Singh who had been on the run for the past one and a half years was killed in a police encounter late on Saturday. He was found hiding in the house of an aide Shravan Singh in Malasar village of Churu. Anand Pal and his two aides fired nearly 100 rounds of bullets on the policemen when they tried to surround the house he was hiding in and arrest him alive. Circle inspector Suryaveer Singh had a fracture in his hand while another policeman Sohan Singh sustained bullet injuries.


The cops are learnt to have recovered two AK-47 guns and 400 bullets after the encounter. Nearly 50 policemen of SOG and quick response team (QRT) were part of the operation.

The news of his encounter spread quickly in the state. In some areas of Didwana and Ladanu in Nagaur district, people even congratulated each-other, terming the encounter a much-awaited justice for the broad daylight murder of Jeevan Goadara, Harphool Jat and Pappu Meghawal. The murders took place in Godara Maket of Didwana on June 27, 2006. Anandpal’s name had cropped up in the sensational murder case.

Anandpal’s fans vent out their anger on social media channels, prominently Facebook which is being used for running many fake pages of Anandpal. “We are proud of your Anandpal”, ‘RIP Anandpal’, and ‘We would take revenge’ are some of the messages being shared on Facebook.

A few hours before the encounter, the special operations group (SOG) arrested his two brothers Devendra alias Guttu and Vikki from Sirsa in Haryana.

During interrogation with the two brothers, it came up that Anandpal Singh was hiding in the house of one Shravan Singh in Churu’s Malasar village.

A team of SOG had been camping in Haryana under the supervision of IG, SOG Dinesh MN for the past one and a half months. The team nabbed Vikki and Guttu from Sirsa around 6 pm on Saturday.

CI Suryaveer Singh getting treatment at a hospital.After their brief interrogation, police came to know that Anandpal was hiding in Shravan Singh’s house for the past two days.A team led by add SP Karan Sharma was immediately rushed to Malasar.

The team surrounded the house, but Anandpal Singh and his aides came to know about the presence of cops. They climbed on the rooftop and started firing, using AK – 47.

Anandpal allegedly fired nearly 100 rounds of bullets.

At the time of his encounter, he was clean-shaved. He is known for keeping beard, but police officials said that he became clean-shaved to disguise himself.

Anandpal had fled from the police custody on September 3, 2015 while he was being taken to Ajmer high security jail from a court hearing in Nagaur’s Ladanu town.

Near Parabatsar town in Nagaur district, Anandpal’s gang members opened fire at the policemen escorting the criminal and helped him escape. Anandpal took away an AK-47 that belonged to the police.

In the past one and a half years, the SOG and Nagaur police arrested more than 100 people, mostly members of Anand Pal’s gang, but the criminal remained elusive. While more than 60 people have been released on bail, the remaining people are still behind bars.

Nearly five months after his escape in Parbatsar, Anand Pal was allegedly chased by Nagaur police, but he allegedly opened fire at the police party, killing a policeman Khumaram.

Anandpal Singh was carrying a cash reward of Rs 5 lakh on his head.

Home minister Gulab Chand Kataria said that the encounter was inevitable because Anandpal used automatic guns to open fire on policemen.

There were reports that the family members of Anandpal have demanded a CBI probe into the matter alleged in a fake encounter. They also demanded that Anandpal’s two brothers who were arrested should be given the opportunity to attend his last rites.

DGP Manoj Bhatt said that Anandpal was asked to surrender several times, but instead he opened fire and engaged the police in a gun battle. The police had to fire in self defense.

A resident of Sanwrad village in Nagaur’s Ladanu area, Anandpal had political ambitions. He had fought in local panchayat elections. He entered the world of crime after he got involved in illegal liquor trade and came in direct conflict with criminals who were already into this business.

Rajasthan DGP Manoj Bhatt said that all the policemen involved in the encounter would be rewarded for their bravery.

Courtesy : The PinkCity Post….

ईंट लदी ट्रैक्टर-ट्रॉली से भिड़ी बस, 30 से ज्यादा घायल, दो की मौत

लखनऊ के इटौंजा में हुए एक सड़क हादसे में लगभग तीस लोग घायल हो गए जबकि दो की मौत हो गई। हादसे के शिकार चार लोगों की हालत गंभीर है।

हादसा रविवार सुबह करीब साढ़े तीन से चार बजे के बीच इटौंजा के सीतापुर रोड स्थित अर्जुनपुर गांव के पास हुआ। बस ड्राईवर को झपकी आ जाने से सवारियों से भरी बस आगे जा रही ट्रैक्टर-ट्रॉली से टकरा गई। जिससे ट्रैक्टर-ट्रॉली पलट गई जबकि बस खाई में चली गई।

सोहराब गेट डिपो की बस मेरठ से लखनऊ आ रही थी। हादसे में घायल लोगों में से कुछ का इटौंजा साढ़ामऊ में इलाज चल रहा है जबकि कुछ लोगों को निजी अस्पताल में भेज दिया गया है।हादसे में घायलों की ग्रामीणों ने खूब मदद की।

समर्थन जुटाने लखनऊ पहुंचे राष्ट्रपति उम्मीदवार रामना‌थ कोविंद, सीएम ने किया स्वागत

केंद्र में सत्ताधारी एनडीए के राष्ट्रपति प‌द के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद अपने लिए समर्थन जुटाने के लिए लखनऊ पहुंच गए है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास पांच कालिदास मार्ग पर उनका स्वागत किया।

बता दें कि रामनाथ कोविंद आज भाजपा विधायकों व सांसदों से मिलकर राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपने पक्ष में समर्थन की अपील करेंगे।

उनके साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी व उमा भारती भी हैं। इसके पहले सीएम योगी ने लखनऊ एयरपोर्ट पर उन्हें रिसीव करने पहुंचे। रामनाथ के खिलाफ यूपीए की उम्मीदवार मीरा कुमार चुनाव मैदान में हैं पर उनका जीतना तय माना जा रहा है।

रामनाथ कोविंद का स्वागत करते उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य।

मुख्यमंत्री आवास पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, रामनाथ कोविंद, मुख्यमंत्री आदित्यनाथ व केंद्रीय मंत्री उमा भारती।