सीएम योगी ने पीएम मोदी के लिए बनवाई स्पेशल डिशेज, गुजराती कढ़ी सहित ये सब रहा मेन्यू में

लखनऊ पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी की मेहमाननवाजी में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोई कसर बाकी नहीं रखी। मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर सीएम की ओर से आयोजित रात्रिभोज में शुद्ध शाकाहारी व्यंजन परोसे गए तो भातखंडे संगीत सम विश्वविद्यालय के कलाकारों ने संगीत की छटा बिखेरी। पीएम मोदी के लिए खास तौर पर गुजराती कढ़ी और आम की खीर बनवाई गई थी। पीएम ने भोजन की तारीफ की और शेफ से मिलकर फोटो भी खिंचवाई। (पीएम मोदी का सीएम आवास में स्वागत करते मुख्यमंत्री योगी।)

सपा यूथ ब्रिगेड के अध्यक्ष व छात्र सभा के उपाध्यक्ष सहित कई हिरासत में

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुरक्षा के मद्देनजर सोमवार देर रात सपा यूथ ब्रिगेड के प्रदेश अध्यक्ष दिग्विजय सिंह देव और समाजवादी छात्र सभा के प्रदेश उपाध्यक्ष मोनू मिश्रा सहित कई पदाधिकारियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। मध्य प्रदेश के मंदसौर में किसान आंदोलन को लेकर उग्र किसान नेताओं को भी पकड़ा गया है।

कई राजनीतिक व सामाजिक संगठनों के नेताओं को भी एहतियातन उनके घरों में ही नजरबंद किया गया है। स्थानीय अभिसूचना इकाई ने प्रधानमंत्री के आगमन पर विरोध-प्रदर्शन व काले झंडे दिखाए जाने की आशंका जताते हुए अधिकारियों को संदिग्धों से सतर्क किया था जिसके चलते यह कार्रवाई की गई।

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन से चंद घंटे पहले मंगलवार दोपहर बिना अनुमति के जुलूस व धरना-प्रदर्शन करने जा रहे 22 प्रदर्शनकारियों को वजीरगंज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

प्रदर्शनकारी भीम आर्मी के अध्यक्ष चंद्रशेखर उर्फ रावण और बीते दिनों लखनऊ विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए सीएम योगी की फ्लीट का घेराव करने वाले प्रदर्शनकारियों को रिहा करने की मांग कर रहे थे।

सुबह करीब सवा ग्यारह बजे प्रदर्शनकारी शहीद स्मारक पर एकत्र हुए। अराजकता की आशंका के मद्देनजर पांच थानों की पुलिस तैनात की गई थी। इसके बावजूद प्रदर्शनकारियों ने जीपीओ तक जुलूस निकालने का प्रयास किया।

रोकने की कोशिश की तो प्रदर्शनकारियों ने पुलिस कर्मियों से हाथापाई और धक्का-मुक्की की। प्रदर्शनकारी सड़क पर बैठ गए और जाम लगा दिया। पुलिस ने हटाने का प्रयास किया तो प्रदर्शनकारी शहीद स्मारक के भीतर घुस गए और हंगामा करने लगे जिससे अफरातफरी का माहौल बन गया।

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर राजधानी होगी योगमय, कनॉट प्लेस में आयोजित होगा मुख्य कार्यक्रम

तीसरे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर बुधवार की सुबह पूरी दिल्ली योगमय होगी। छोटे-बड़े तमाम संगठनों ने विभिन्न स्थानों पर योग कार्यक्रमों का आयोजन किया है। मुख्य योग कार्यक्रम कनॉट प्लेस में होगा। आयुष मंत्रालय व एनडीएमसी की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में केंद्रीय शहरी विकास मंत्री एम वैंकेया नायडू, अन्य नेता और कई गणमान्य व्यक्ति योग करेंगे। राजधानी के अन्य स्थानीय निकायों ने भी योग कार्यक्रमों का आयोजन किया है। सभी जगह सुबह छह बजे योग कार्यक्रम आरंभ होंगे और करीब नौ बजे तक कार्यक्रमों का आयोजन होगा।

एनडीएमसी ने योग दिवस पर पूरे कनॉट प्लेस में कार्यक्रम आयोजित किए है। उसका मुख्य कार्यक्रम जनपथ पर किया है, जिसमें केंद्रीय मंत्री एम वैंकेया नायडू व विजय गोयल, उपराज्यपाल अनिल बैजल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आदि प्रमुख हस्तियां योग करेगी। इसके अलावा एनडीएमसी ने लोधी गार्डन, नेहरू पार्क, तालकटोरा गार्डन में भी योग कार्यक्रमों का आयोजन किया है। इन स्थानों पर देश विदेश के अधिकारी एवं देश के नेता और अन्य लोग योग करेंगे।

एनडीएमसी के अनुसार उसके समस्त कार्यक्रमों में सुबह सात बजे से पौने आठ बजे तक योग होगा। इसके अलावा इन कार्यक्रमों में लखनऊ में होने वाले कार्यक्रम का सीधा प्रसारण नई दिल्ली इलाके में जगह-जगह एलईडी स्क्रीन के माध्यम से दिखाया जाएगा। वहां से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन दिखाने की भी विशेष व्यवस्था की गई है।दक्षिण दिल्ली नगर निगम ने योग दिवस के उपलक्ष्य में तालकटोरा स्टेडियम में योग कार्यक्रम का आयोजन किया है।

इस कार्यक्रम में प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी एवं अन्य नेता हिस्सा लेंगे। वहीं उत्तरी दिल्ली नगर निगम की ओर से करोल बाग स्थित अजमल खां पार्क में योग कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। जबकि पूर्वी दिल्ली नगर निगम पटपडग़ंज स्थित अपने मुख्यालय में योग कार्यक्रम आयोजित करेगी। दिल्ली छावनी बोर्ड श्री नगेश गार्डन में योग कार्यक्रम कर रहा है। इस कार्यक्रम में सेना एवं अन्य विभागों के करीब तीन हजार लोग योग करेंगे।

झमाझम बरसात लोग उठाया लुफ्त तो कही किसान खुश और मेंथा कास्तकार चिंतित

मुरादाबाद जिले में मानसून की पहली बारिश जम कर हुई बरसात हुई | जिससे काफी हद तक लोगो को गर्मी से राहत मिली | लोग बारिश की बूंदो का लुफ्त उठाते नजर आये तो वही किसानों के चेहरे खिले | इस पर किसान रामस्वरूप का कहना है कि बरसात होने से उनकी फसल के लिए ये अमृत है अब धान की रोपाई के लिए लोगों ज्यादा मुश्किलों का सामना नहीं करना पड़ेगा | लेकिन चिंता इस बात की है भगवान् ऐसे मेहरबान रहे तो काफी हद तक पानी के लिए मारा मारी समाप्त हो सकती है | वही मेंथा कास्तकार काफी चिंतित है कि लगातार बरसात से उनकी मेहनत पर पानी फिर जायेगा |

होटल में ‘जिस्मफरोशी का धंधा’, रंगरेलियां मनाते धरे गए भाभी-देवर और जीजा-साली

चित्र काल्पनिक : कानपुर के नटराज होटल में भाभी-देवर, जीजा-साली और प्रेमी-प्रेमिका मौज-मस्ती करते पकड़े गए। पुलिस ने सभी को हिरासत में ले लिया है। होटल के रजिस्टर और रिकॉर्ड कब्जे में लेकर खंगाले जा रहे हैं।

कानपुर के एसपी पूर्वी अनुराग आर्या ने बताया कि घंटाघर और आसपास स्थित होटलों में युवक-युवतियों के मौज-मस्ती के लिए आने की खबर कई दिनों से मिल रही थी। मंगलवार को सटीक सूचना पर बेकनगंज और हरबंश मोहाल पुलिस ने संयुक्त रूप से नटराज होटल में छापा मारा। पुलिस को देखते ही होटल संचालक और कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। पुलिस टीम ने कमरों की तलाशी ली तो अलग-अलग कमरे में श्याम नगर चकेरी का एक युवक अपनी भाभी, मौरावां उन्नाव का एक युवक अपनी साली के साथ रंगरेलियां मनाते मिले।

PM मोदी ने योगी की थपथपाई पीठ, बोले- यूपी की बीमारी ठीक करने में लगे हैं सीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, योगी यूपी की कई साल की बीमारियों को ठीक कर रहे हैं। योगी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश उमंग और उत्साह के साथ विकास की राह पर चल पड़ा है।
योगी प्रदेश के कई सालों के अवरोध को एक-एक कर दूर करते हुए प्रदेश को तेजी से आगे बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं। इसके लिए योगी व उनकी टीम को बधाई देता हूं। प्रधानमंत्री अंतरराष्ट्रीय योग दिवस होने वाले कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए दो दिवसीय दौरे पर मंगलवार को यहां पहुंचे हैं। बुधवार को वे 51,560 लोगों के साथ रमाबाई अंबेडकर मैदान में योग करेंगे।

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) के नए भवन का लोकार्पण करने के बाद एकेटीयू में आयोजित समारोह में मोदी ने कहा, आज पूरा देश यूपी पर निगाहें जमाए हुए है। देश के हर कोने में यूपी की घटनाओं पर नजर है।

योगी के नेतृत्व में एक के बाद एक कदम उठाए जा रहे हैं। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने 400 केवी की लखनऊ-कानपुर ट्रांसमिशन लाइन का उद्घाटन किया और प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को आवास आवंटन पत्र भी दिए। पीएम ने सीडीआरआई के नए कैंपस का दौरा भी किया।

कुंबले का टीम इंडिया के कोच पद से इस्तीफा, कहा- कोहली को मेरे काम से थी परेशानी

कप्तान विराट कोहली के साथ कथित मनमुटाव की खबरों के बीच टीम इं‌डिया के कोच अनिल कुंबले ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफा के बाद कुंबले ने ट्वीट कर बताया कि ‘मुझे बोर्ड की तरफ से सुलह के लिए बोला गया लेकिन साथ ही मुझे यह भी बताया गया कि कप्तान को मेरी कार्यशाली से परेशानी है। जिसके बाद मुझे महसूस हुआ कि अब सुलह की गुंजाइश नहीं बची है। और मैंने इस्तीफा देना सही समझा।’
बता दें कि उनके बिना ही भारतीय टीम विंडीज दौरे के लिए रवाना हुई थी। कुंबले के टीम के साथ न जाने पर अधिकृत तौर पर बताया गया कि आईसीसी बैठक की प्रतिबद्धताओं के चलते कुंबले लंदन में रुक गए। पर कुंबले ने साफ कर दिया है कि उन्होंने अपना पद छोड़ दिया है।

एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि अनिल कुंबले ने बीसीसीआई को सूचित कर दिया है कि वो अब टीम इंडिया के कोच के पोस्ट पर नहीं रह सकते।

कुंबले के वेस्टइंडीज दौरे पर न जाने की खबरों के कुछ समय बाद ही उनके इस्तीफे की खबर आ गई। बता दें कि चै‌म्‍पियन ट्रॉफी से पहले उनके इस्तीफे और कप्तान कोहली के साथ मतभेद की खबरें मीडिया में सुर्खियां बनी। हालांकि कप्तान विराट कोहली ने अनिल कुंबले से मतभेद की खबरों का खंडन किया था।

मालूम हो कि वेस्टइंडीज में पांच मैचों की वनडे सीरीज 23 जून को शुरू होगी जबकि सोमवार को शुरू हुई आईसीसी की वार्षिक बैठक 23 जून तक चलेगी। कुंबले की अगुवाई वाली क्रिकेट समिति की बैठक 22 जून को प्रस्तावित है। टीम सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की है कि कुंबले आईसीसी बैठक के लिए लंदन में ही रुक गए हैं लेकिन आईसीसी बैठक के बाद उनके टीम से जुड़ने को लेकर कोई टिप्पणी नहीं की गई।

इससे पहले यह भी चर्चा जोरों पर थी कि कप्तान विराट कोहली की क्रिकेट सलाहकार समिति के सदस्यों सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण के साथ बैठक हुई है जिसमें कोहली ने कोच के साथ अपने रिश्तों को लेकर कुछ नाखुशी जताई है।

उल्लेखनीय है कि चैंपियंस ट्रॉफी के साथ बतौर चीफ कोच कुंबले का एक साल का अनुबंध पूरा हो चुका था। बीसीसीआई ने 25 मई को चीफ कोच के लिए विज्ञापन निकाला था जिसके लिए पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने भी आवेदन किया है। कुंबले के साथ ड्रेसिंग रूम साझा कर रहे सीएसी के तीनों सदस्य पहले ही कथित रूप से कोच को लेकर अपनी राय दे चुके हैं। कोच चयन को लेकर अंतिम फैसला प्रशासकों की समिति लेगी।

हाल ही में सम्पन्न हुई चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान अभ्यास सत्र के दौरान कप्तान कोहली और कोच कुंबले के बीच बमुश्किल ही संवाद हुआ। कोच कुंबले ज्यादातर समय गेंदबाजों को अभ्यास कराते ही नजर आए थे।