in

गड्ढा भरने के नाम पर योगी सरकार में बड़ा घोटाला,बरसात से सड़क धुलने के बाद खुली पोल

https://youtu.be/-1C8yK6CKTw

हेडलाइन्स-अमरनाथ यात्रा के दौरान सोमवार को जो बस आतंकी हमले का शिकार वो बच सकती थी लेकिन टायर पंक्चर होने की वजह से ऐसा नहीं हो सका और 7 तीर्थ यात्रियों की मौत हो गई।

हेडलाइंस-2-अमरनाथ यात्रियों को सूरत एयरपोर्ट लाया गया, दी गई श्रद्धांजलि,अनंतनाग में हुआ था आतंकी हमला । जिसमें 7 यात्रियों की मौत हो गई और 19 घायल हुए थे ।

3-हेडलाइन्स-यूपी के लखीमपुर खीरी में कर्ज दुबे किसान ने नदी में डूबकर दी जान सहकारी बैंक लिमिटेड से ले रखा 3 लाख का कर्ज

हेडलाइन्स-4-गड्ढा भरने के नाम पर योगी सरकार में बड़ा घोटाला,बरसात से सड़क धुलने के बाद खुली पोल बाराबंकी,मुरादाबाद सहित यूपी के कई जनपदों एक जैसे हालात

हेडलाइन्स-5-शिक्षक पद पर समायोजन की मांग को लेकर भीख भांग रहे शिक्षा प्रेरक पैदल मार्च कर मुख्यमंत्री से मिलने चले,पोलिस ने रोका
——-
1-एंकर-सूरत। अमरनाथ यात्रा पर गए भक्तों पर अनंतनाग में आतंक हमला हुआ। जिसमें 7 यात्रियों की मौत हो गई और 19 घायल हुए हैं। घायल और मृतकों में से अधिकांश दक्षिण गुजरात के हैं। मृतकों एवं घायलों को श्रीनगर से एयरफोर्स के स्पेशल एयरक्राफ्ट सी-132 से द्वारा सूरत एयरपोर्ट लाया गया। तब वहां मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने मृतकों को श्रद्घांजलि दी। बस के ड्राइवर को धन्यवाद कहा मृतकों को श्रद्धांजलि देने के बाद मुख्यमंत्री ने बस के ड्राइवर सलीम को उसकी बहादुरी पर धन्यवाद दिया। बाद में वे घायलों के परिवार वालों से मिले। उल्लेखनीय है कि प्रत्येक मृतक परिवार को 10-10 लाख रुपए की सहायता की जाएगी। घायलों का इलाज किरण हास्पिटल में किया जाएगा। उनसे इलाज का कोई खर्च नहीं लिया जाएगा। यह घोषणा किरण हास्पिटल के ट्रस्टी गोविंद ढोलकिया ने की। इस अवसर पर एयरपोर्ट पर उपमुख्यमंत्री नीतिन पटेल, भाजपाध्यक्ष जीतुभाई और महामंत्री भरतसिंह भी उपस्थित थे।————-

2- एंकर-अमरनाथ : बस पंक्चर ना होती तो जानें बच जाती, हमले के बाद नया जत्था रवाना

अमरनाथ यात्रा के दौरान सोमवार को जो बस आतंकी हमले का शिकार वो बच सकती थी लेकिन टायर पंक्चर होने की वजह से ऐसा नहीं हो सका और 7 तीर्थ यात्रियों की मौत हो गई। दूसरी तरफ, आतंकी हमले का यात्रियों के हौसले पर कोई असर नहीं हुआ और इनका नया जत्था मंगलवार को अपने अगले पड़ाव की तरफ रवाना हो गया। बता दें कि सोमवार को हुए इस आतंकी हमले के बाद सिक्युरिटी रिव्यू किया गया है। अब नए सिरे से सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं।

अफसरों के मुताबिक, जिस बस पर हमला हुआ वो शाम पांच बजे 60 यात्रियों को लेकर श्रीनगर से जम्मू के लिए रवाना हुई। इसे 100 किलोमीटर की दूरी तय करके 7 बजे जम्मू बेस कैम्प पहुंचना था। लेकिन, जम्मू से करीब 50 किलोमीटर पहले ही बस का टायर पंक्चर हो गया और ये काफिले से पिछड़ गई। ड्राइवर ने बस रोककर टायर बदलने की कोशिश की। इसमें करीब एक घंटा लगा और सात बज गए। इस वक्त नेशनल हाईवे पर सफर खतरनाक होता है। बस पर दो आतंकी गुटों ने हमला किया। दोनों गुट बाइक से घटनास्थल पर पहुंचे थे।

ये भी कहना गलत नहीं होगा कि सलीम की मंशा अगर ऐसी होती तो बस को खड़ी कर फरार हो सकता था,अपनी जान देकर वो अन्य शिवभक्तों को मौत के मुंह में धकेल देता यहाँ ये बात कहनी जरुरी होगी कि अगर बस में सैकड़ो कि संख्या में भक्त या यात्री सवार हो तो उन्हें बचाने के लिए कुछ को और उनके जीवन के लिए जान की कीमत शहीद होकर चुकानी पड़ सकती है | उन्हें क्या पता कि राहों में कितने कांटे होंगे जो घर से कभी निकले ही नहीं,सियासत कोई भी करें और सवाल कोई करे दर्द उनसे पूछिए जिनके घरो का साया उठ गया और हमेशा के लिए चिराग बुझ गया | चलिए ये हो हल्ला इसी तरह मचता रहेगा एक कमरे में बैठकर घड़ियाली आंसू ऐसे ही बहते रहेंगे वैसे कश्मीर की क़ानूनी किताबो में कैद इसी तरह हवाला देकर कैमरे के सामने गाला फाड़ा जाता रहेगा—ध्रुव गोस्वामी एनडीटीवी 24 दिल्ली—–

योगी सरकार का झूठ उजागर नहीं माफ़ हुआ कर्जा,बैंकिंग प्रणाली के नियम ही अलग है

3- एंकर-एक तरफ जहाँ यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ बैंको से बार अपील कर रहे है कि कर्ज लेने वाले किसानों को नोटिस न भेजे लेकिन फिर भी गरीब किसानो की जान लेने पर बैंक तुले हुए है | लेकिन यहाँ ये कहना गलत नहीं होगा कि कर्ज माफ़ करने झूठी-झूठी वाह वाही के चक्कर में दर असल किसानो को मूर्ख बनाया जा रहा है | ऐसा इसिलए क्योंकि यहाँ सरकार की नहीं चलेगी दरअसल बैंक प्रणाली ही अलग है | अगर भरोसा नहीं तो योगी को क्यों अपील करनी पड़ती सिर्फ एक आदेश के बाद बैंक थर्र-थर्र काँप रहे होते |

वीओ-लखीमपुर खीरी जनपद में सिंगाही थाना क्षेत्र के ग्राम खैरीगढ़ के रहने वाले किसान ने बैंक से लिया कर्ज लिया था आरोप है जिसको न चुका पाने के कारण नदी में कूदकर उसने जान दे दी । जिससे अब किसानों में हड़कम्प मच गया | लखीमपुर खीरी जिले के सिंगाही क्षेत्र के ग्राम रहीम पुरवा के रहने वाले चुन्ना लाल पुत्र मनोहर लाल ( 60 वर्ष) ने खैरीगढ़ पुल से सरयू नदी में कूद कर खुदकशी कर ली |

बाइट-सुनील कुमार म्रतक का भतीजा

वीओ-आपको बता दे कि मृतक किसान चुनना लाल के ऊपर यूपी सहकारी ग्राम विकास बैंक लिमिटेड शाखा का 3 लाख रूपयों का कर्ज था कर्जमाफी योजना में कर्ज माफ़ न हो पाने की दशा में किसान मानसिक तनाव में आ गया और कर्ज माफ़ी न हो पाने की परेशानी को लेकर पीड़ित किसान चुन्नालाल ने सरयू नदी में कूद कर आत्म हत्या कर ली ।

बाइट-सुनील कुमार म्रतक का भतीजा

वही इस घटना के बाद मौके पर पहुँची सिंगाही पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस मामले के बाद क्या कहना प्रशासन का आइये आपको दिखाते है |
बाइट-उपजिलाधिकारी अखीलेश यादव

वही इस घटना से एक बात तो जरूर साबित होती है कि केंद्र सरकार कर्ज माफ़ करने का फरमान राज्य सरकारों और बैंको को सुना चुका है लेकिन ये कहना भी गलत नहीं होगा कि असल केंद्र सरकार दूसरे ट्रेक से जितना हो सके बैंको का खजाना किसी तरह जो भी हो सके उसे भरे देखना होगा कि चुन्नीलाल की मौत के बाद अगला नम्बर किसका है |
—लखनऊ से ध्रुव गोस्वामी के साथ फारुख हुसैन एनडीटीवी 24 लखीमपुर खीरी उत्तर प्रदेश—

4-एंकर- शहर की सड़कों के किनारे जरा संभलकर चलिए क्योंकि आपके पैरों तले की सड़क कब धंस कर गड्ढे में तब्दील हो जाए आप जान नहीं पाएंगे। यह स्थिति बिजली विभाग के ठेकेदारों की मनमानी व नगर पालिका की निगरानी में हुई लापरवाही के कारण पैदा हुई है।

15 जून तक यूपी की सारी सड़के गड्ढे मुक्त हो गयी लेकिन सारे गड्ढे भरने के बाद इन्हे भरने के नाम पर बड़ा घोटाला किया गया ये कहना गलत नहीं होगा और तो और जो निर्माण कराये गए उनकी भी पोल खुलती नजर आ रही है | बात मुरादाबाद की ही नहीं बल्कि बाराबंकी सहित यूपी भर की सड़कें गड्ढामुक्त नहीं जल युक्त हो गयी है |

बरसात के कारण शहर में जगह जगह जलभराव और सड़के धसी हुई मुरादाबाद के मुख्यमार्ग स्टेशन रोड सिटी के सामने सड़क धसने के कारण एक होंडा सिटी कार धसी जिसके चलते बड़ा हादसा होने से टल गया बताया जाता है ये हादसा सीवर लाइन डालने वालो की कमी को दर्शाता है इसके अलावा इसी रोड से गुजर रहा ट्रेक्टर ट्राली एक कदम भी बढ़ सका जाहिर है जलभराव के कारण लोगो को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है |—–लखनऊ से ध्रुव गोस्वामी के साथ बीपी सिंह एनडीटीवी 24 मुरादाबाद उत्तर प्रदेश—–

—–

5-एंकर-बाराबंकी : भीख भांग कर प्रदर्शन और मांगे मनवाने के लिए ये है शिक्षा प्रेरक,शायद ये आपकी पंचायत में भी तैनात हो और ज्ञान का उजियारा बाँट रहे हो इनकी मांग है कि 2000 हजार में इनका काम नहीं चल रहा है इसिलए ये बरसात की परवाह किये बगैर सड़क पर उतर कर पैदल ही सूबे के राजा योगी आदित्यनाथ से मिलकर इससे अवगत कराने जा रहे है |

शिक्षक पद पर समायोजन की मांग को लेकर गोंडा से पैदल मार्च कर मुख्यमंत्री से मिलने जा रहे लोक शिक्षा प्रेरकों को पुलिस ने पकड़ लिया। हिरासत में लेने के बाद सभी प्रेरकों को पुलिस ने उन्हीें के जिलों में ट्रेन से टिकट कटवाकर भेज दिया। इसको लेकर शिक्षा प्रेरकों में आक्रोश है।

बाइट-प्रेरक

गोंडा, बाराबंकी, सीतापुर, श्रावस्ती, बलरामपुर, बहराइच, गोरखपुर, फैजाबाद सहित तमाम जिलों के शिक्षा प्रेरकों ने गोंडा से शांतिपूर्वक पैदल मार्च शुरू किया था। प्रेरक मार्च करते हुए बाराबंकी पहुंचे और रविवार की रात बिताई। सोमवार की सुबह फिर से प्रेरकों ने मुख्यमंत्री आदित्यनाथ से मिलने के लिए लखनऊ की ओर पैदल मार्च शुरू किया। सैकड़ों शिक्षा प्रेरक नगर कोतवाली के कुरौली के पास पहुंचे थे तभी एसडीएम नवाबगंज मौके पर पहुंच गए। शिक्षा प्रेरकों का कहना है कि पुलिस ने जबरन बाराबंकी स्टेशन पर ले जाकर गोंडा, श्रावस्ती, बलरामपुर, बहराइच, गोरखपुर, फैजाबाद आदि जिलों के लिए टिकट कटवाकर वापस भेज दिया। वापस न जाने पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज करने की धमकी भी दी गई।
शिक्षक पद पर समायोजन होने तक 15 हजार रुपये प्रतिमाह मानदेय दिया जाए। तीन अप्रैल को आयोजित संविदा कर्मचारियों की अधिकार दिलाओ रैली में किया गया वादा पूरा किया जाए। सोमवार को जिले में पहुंची पैदल मार्च का स्वागत जिले के प्रेरकों ने किया। ध्रुव गोस्वामी एनडीटीवी 24,बाराबंकी,उत्तर प्रदेश —

What do you think?

0 points
Upvote Downvote

Total votes: 0

Upvotes: 0

Upvotes percentage: 0.000000%

Downvotes: 0

Downvotes percentage: 0.000000%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यूपी में 3.84 लाख करोड़ का बजट पेश

Video:देखें-12 जुलाई 2017-एनडीटीवी 24 आज की बड़ी खबरें